LPG Gas Cylinder price: इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन ने बताया कि उसने एलपीजी सिलिंडर की कीमत में 10 रुपए की कटौती का फैसला किया है.

नए वित्त वर्ष के पहले दिन रसोई गैस की कीमत में कटौती करने का फैसला लिया गया है. इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन ने बताया कि उसने एलपीजी सिलिंडर की कीमत में 10 रुपए की कटौती का फैसला किया है. नई कीमत 1 अप्रैल से लागू होगी. इससे पहले विश्वस्त सरकारी सूत्रों ने बताया था कि बहुत जल्द पेट्रोल-डीजल के साथ-साथ एलपीजी गैस के रेट में भी गिरावट आएगी. सूत्रों का कहना है कि इंटरनेशनल मार्केट में फिर से कच्चे तेल का भाव गिर रहा है. यही वजह है कि इन उत्पादों की कीमत में गिरावट आएगी. पिछले एक सप्ताह में पेट्रोल और डीजल के रेट में तीन बार गिरावट आ चुकी है.

अभी 14.2 किलोग्राम के नॉन-सब्सिडियरी वाले गैस सिलिंडर की कीमत दिल्ली में 819 रुपए, कोलकाता में 845.50 रुपए, मुंबई में 819 रुपए और चेन्नई में 835 रुपए है. कीमत में कटौती के बाद एक अप्रैल से यह रेट घटकर दिल्ली में 809 रुपए, कोलकाता में 835.50 रुपए, मुंबई में 809 रुपए और चेन्नई में 825 रुपए हो जाएगा.

पिछले दो महीने में 125 रुपए महंगा हुआ गैस सिलिंडर

पिछले कुछ समय से कुकिंग गैस की कीमत में केवल उछाल आया है. फरवरी और मार्च के महीने में रसोई गैस की कीमत में 125 रुपए का इजाफा हुआ है. 4 फरवरी को कीमत में 25 रुपए का उछाल आया, उसके बाद 15 फरवरी को कीमत में 50 रुपए का उछाल आया, उसके बाद 25 फरवरी को फिर 25 रुपए और 1 मार्च को फिर से 25 रुपए की तेजी आई.

क्रूड ऑयल की कीमत में लगातार आ रही है गिरावट

पिछले कुछ समय से क्रूड ऑयल की कीमत में गिरावट देखी जा रही है. इंटरनेशनल मार्केट में यह 64 डॉलर के स्तर पर ट्रेड कर रहा था. मार्च के शुरुआती सप्ताह में यह 71 डॉलर तक पहुंच गया था. सरकारी सूत्र ने कहा कि रिटेल में पेट्रोल-डीजल की कीमत का कैलकुलेशन क्रूड ऑयल के रेट पर निर्भर करता है. ऐसे में आने वाले दिनों में यह सस्ता होगा. फरवरी के महीने में पेट्रोल और डीजल का रेट ऑल टाइम हाई पर पहुंच गया था. पिछले एक सप्ताह में इसके रेट में 60 पैसे से ज्यादा की गिरावट आई है.

ट्रेंड में गिरावट का अनुमान

वर्तमान ट्रेंड के मुताबिक, रेट में केवल गिरावट आएगी. इसमें तेजी की अभी कोई संभावना नहीं है. पेट्रोल और डीजल का रेट 15 दिनों के क्रूड ऑयल के ऐवरेज (rolling average of benchmark fuel) रेट पर आधारित है जबकि एलपीजी का रेट हर महीने की पहली तारीख को बदलता है.