दक्षिण कोरिया गणराज्य के रक्षामंत्री सु वोक शनिवार को अयोध्या पहुंचे और सरयू तट पर निर्माणाधीन महारानी हौ के स्मारक का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने कहा कि महारानी हो की याद में निर्माणाधीन स्मारक भविष्य में प्यार के नाम पर आगरा के ताजमहल की तरह ही विश्व प्रसिद्व होगा। यह स्मारक भारत और दक्षिण कोरिया के रिश्ते को और गहराई प्रदान करेगा। सरयू तट पर कोरियाई पार्क का निर्माण 24 करोड़ की लागत से किया जा रहा है, इसी वर्ष इसका निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा।अयोध्या में बन रहा स्मारक।2 of 5अयोध्या में बन रहा स्मारक। – इससे पूर्व कोरिया गणराज्य के रक्षामंत्री सु वोक के हवाई पट्टी पहुंचने पर उनकी आगवानी सांसद लल्लू सिंह, महापौर ऋषिकेश उपाध्याय, अयोध्या विधायक वेदप्रकाश गुप्ता, आयुक्त एमपी अग्रवाल, आईजी संजीव गुप्ता, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा, सेना के अधिकारी डिप्टी कर्नल नरेंद्र ओला, सैन्य अधिकारी राकेश शर्मा आदि ने किया। इसके बाद कोरिया गणराज्य के रक्षामंत्री सीधे सरयू तट स्थित निर्माणाधीन कोरिया पार्क पहुंचे।3 of 5- उन्होंने कोरिया पार्क में महारानी हो को श्रद्घासुमन अर्पित करते हुए सम्मान प्रकट किया। इसके बाद उन्होंने स्मारक के निर्माण कार्य को देखा। इंजीनियरों ने निर्माण कार्य की पूरी जानकारी दी। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने बताया कि सरकार की प्राथमिकता में कोरिया स्मारक का निर्माण कार्य हो रहा है। बताया कि निर्माण कार्य अंतिम चरण में हैं। किंग पवेलियन, क्वीन पवेलियन सहित महारानी हो की समुद्री यात्रा को दर्शान के लिए तालाब का निर्माण कार्य अंतिम चरण में पहुंच चुका है। इसी वर्ष महारानी हो का भव्य स्मारक बनकर तैयार हो जाएगा।अयोध्या में दक्षिण कोरििया के रक्षा मंत्री व अन्य।4 of 5अयोध्या में दक्षिण कोरििया के रक्षा मंत्री व अन्य। स्मारक में दिखेगी भारत-कोरिया के संस्कृति की झलक
-दक्षिण कोरिया और भारत के संबंधों का इतिहास दो हजार साल पुराना है। अयोध्या की राजकुमारी सूरीरत्ना ने दो हजार साल पूर्व समुद्र मार्ग के जरिए कोरिया पहुंचकर वहां के राजा किम सूरो से विवाह किया था। यहीं से भारत-कोरिया के संबंधों की आधारशिला पड़ी। महारानी हो की याद में अयोध्या के सरयू तट पर कोरिया के लोगों द्वार ही रानी हो का भव्य स्मारक बनाया गया।अयोध्या में दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्री सु वोक5 of 5अयोध्या में दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्री सु वोक – हर वर्ष कोरिया का दल अयोध्या आकर रानी हो को श्रद्घांजलि अर्पित करता है। अब सरयू तट पर 24 करोड़ से कोरिया के स्मारक का भव्य निर्माण कराया जा रहा है। यह स्मारक भारत-कोरिया के प्राचीन संबंधों का गवाह बनेगा साथ ही आस्था के साथ पयर्टन का भी केंद्र बनेगा। स्मारक में दोनों देशों के संस्कृति की झलक दिखेगी।