तीन कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले चार महीने से आंदोलन कर रहे किसानों ने 26 मार्च, शुक्रवार को देशव्यापी भारत बंद का आह्वान किया है। बंद सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक चलेगा। किसान नेताओं ने कहा है कि भारत बंद में शामिल होने के लिए किसी से जबरदस्ती नहीं की जाएगी। आपको बता रहे हैं इससे जुड़ा हर अपडेट। 

लाइव अपडेट

गाजीपुर बॉर्डर पर यातायात बंद

ट्रैफिक पुलिस के मुताबिक, एनएच-24 पर गाजीपुर बॉर्डर पर यातायात बंद कर दिया गया है। 

दिल्ली की सीमाओं के सभी वैकल्पिक रास्ते भी आज रहेंगे बंद 

दिल्ली की जिन सीमाओं पर किसानों के धरने चल रहे हैं, उनके आसपास के वैकल्पिक रास्ते भी शुक्रवार की सुबह छह से शाम छह बजे तक बंद रहेंगे। हालांकि दिल्ली की सीमाओं पर फिलहाल प्रदर्शनकारियों की संख्या पहले से काफी कम है, बावजूद इसके आंदोलनकारियों का दावा है कि बंद पूरी तरह सफल होगा।

एंबुलेंस, स्कूली बच्चों के वाहनों को नहीं रोका जाएगा

गाजीपुर बॉर्डर पर इस संबंध में बृहस्पतिवार को किसानों ने बैठक कर भारत बंद की रणनीति तय की थी। भारत बंद के दौरान सेना के वाहन, एंबुलेंस, स्कूली बच्चों के वाहन व जरूरतमंद वाहनों को नहीं रोका जाएगा। इसके अलावा आवाजाही प्रभावित रहेगी।  विज्ञापन05:48 AM, 26-MAR-2021

चुनाव वाले राज्यों में भारत बंद नहीं

किसानों के आह्वान पर शुक्रवार को भारत बंद में देश के चार राज्य शामिल नहीं होंगे। जिन राज्यों में चुनाव होना है उन्हें छोड़ सभी राज्यों में संयुक्त किसान मोर्चा ने भारत बंद को सफल बनाने की तैयारियां पूरी कर ली है। सिंघु, टीकरी बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर पर अपनी मांगों के समर्थन में डटे आंदोलनकारी शुक्रवार सुबह छह बजे से ही बंद को सफल बनाने में जुट जाएंगे।
 05:33 AM, 26-MAR-2021

LIVE: किसानों का देशव्यापी भारत बंद आज, सड़क-रेल यातायात पर पड़ सकता है असर

तीन कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले चार महीने से आंदोलन कर रहे किसानों ने 26 मार्च, शुक्रवार को देशव्यापी भारत बंद का आह्वान किया है। संयुक्त किसान मोर्चा ने सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक बंद बुलाया है। प्रदर्शनकारी किसान रेल और सड़क परिवहन को रोकेंगे और मार्केट को बंद कराएंगे। इसके चलते लोगों को आवाजाही की समस्या और दूध-सब्जी समेत अन्य सामानों की किल्लत का सामना करना पड़ सकता है।  

किसान नेताओं ने कहा है कि भारत बंद में शामिल होने के लिए किसी से जबरदस्ती नहीं की जाएगी। साथ ही किसी तरह से शांति व्यवस्था भी नहीं बिगड़ने दी जाएगी। इसके लिए संगठनों के नेता खुद भी नजर रखेंगे। टीकरी बॉर्डर पर हुई मुख्य सभा में किसान नेताओं ने किसानों से बंद को शांतिपूर्ण ढंग से सफल बनाने का आह्वान किया।