केंद्रीय गृह मंत्रालय ने ठाकुर को अखिल भारतीय सेवा के लिए उपयुक्त नहीं माना है

IPS अधिकारी अमिताभ ठाकुर को केंद्र सरकार ने तत्काल प्रभाव से रिटायर करने का फैसला लिया है. उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी की तरफ से जारी आदेश के मुताबिक केंद्रीय गृह मंत्रालय ने ठाकुर को अखिल भारतीय सेवा के लिए उपयुक्त नहीं माना है और तुरंत प्रभाव से पूरी तरह से सेवानिवृत्त किए जाने का फैसला किया है. इस बात की जानकारी अमिताभ ठाकुर ने ट्विटर के जरिए दी है.

अमिताभ ठाकुर हाल फिलहाल में यूपी पुलिस को लेकर कई प्रकार की टिप्पणियां भी करते नजर आए थे. वे अक्सर पुलिस की खामियों को अपने ट्विटर, फेसबुक और दूसरे सोशल मीडिया माध्यमों के जरिए सबके सामने रखे थे.

यूपी में होने वाली कई घटनाओं पर अमिताभ ठाकुर सोशल मीडिया पर लिखते रहते थे. IANS से बातचीत में ठाकुर ने एक बार कहा था- ‘मुझे राजनीतिक दबाव काफी झेलना पड़ा और मैंने बर्दाश्त भी किया, लेकिन हार नहीं मानी’

अमिताभ ठाकुर का मानना था कि ‘अधिकारी-कर्मचारी के बीच दूरियां बनाई गईं हैं. निर्णय ज्यादा लोकतांत्रिक व सम्यक विचारों पर आधारित होना चाहिए. अधिकारी व कर्मचारी की बीच की दूरी खत्म होनी चाहिए. अलोकतांत्रिक रवैया बदला जाना चाहिए व अच्छी कार्य पद्धति को आगे बढ़ाना चाहिए.’

क्या प्रशासनिक अधिकारियों की छुट्टियों में कमी का असर कार्य पड़ता है, इस पर ठाकुर ने कहा था कि हां, बिल्कुल असर होता है. छुट्टियों की कमी का असर पुलिस बलों पर ज्यादा पड़ता है.