पिता ने कहा ‘मसाज पार्लर के बाहर चाऊमीन खा रहा था बेटा’: विशाल के पिता अर्जुन का कहना है कि पुलिस ने जब वहां पर छापा मारा तो मेरा बेटा पार्लर के बाहर ठेले पर वह चाऊमीन खा रहा था, उसी दौरान पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था। चार मार्च को विशाल जेल से बाहर जमानत पर छूटकर आया। 19 दिन तक वह जेल में रहा। इस दौरान वह मानसिक रूप से परेशान हो गया था। पिता ने भी आइपीएस पर कार्यवाही की मांग की है। इंस्पेक्टर इंदिरानगर अजय प्रकाश त्रिपाठी के मुताबिक खुर्रम नगर स्थित पार्लर के भीतर से विशाल को पकड़ा गया था। परिवारजन का आरोप निराधार है।

मम्‍मी-पापा अपना ख्‍याल रखना..लेडी IPS ने मेरा कर‍ियर खराब कर दिया, रेलवे ट्रैक पर दो टुकड़ों में मिला बेटा

सीमा विवाद में एक घंटे तक पड़ा रहा शव: विशाल की आत्महत्या की सूचना 112 को थी, क्योंकि उसने खुद फोन किया था। अलीगंज और हसनगंज की पुलिस सीमा विवाद में उलझी रही। करीब एक घंटे तक दोनों थानों की फोर्स ने शव को हाथ नहीं लगाया। बाद में हसनगंज पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।