आजम खां व गायत्री प्रजापति के बाद अब सपा सरकार के एक और मंत्री की मुश्किलें बढ़ गई हैं। आय से अधिक संपत्ति के मामले में विजिलेंस ने पूर्व कृषि एवं विज्ञान प्रौद्योगिकी मंत्री मनोज पांडेय के खिलाफ शासन से खुली जांच की अनुमति मांगी है। उन पर नियम विरुद्ध अनुसूचित जाति के लोगों की जमीन हथियाने का भी आरोप है।

मुख्यमंत्री कार्यालय को शिकायत मिलने के बाद शासन ने मनोज के खिलाफ गोपनीय जांच के आदेश दिए थे। इसमें विजिलेंस को मनोज के कई संदिग्ध संपत्तियों के बारे में जानकारी मिली। इसी आधार पर विजिलेंस ने खुली जांच का निर्णय लिया है।

सपा सरकार में खनन व परिवहन मंत्री रहे गायत्री प्रजापति के खिलाफ भी विजिलेंस आय से अधिक संपत्ति की जांच कर रहा है। आजम के खिलाफ एसआईटी ने जांच की थी।