लखनऊ में ठाकुरगंज थाने में मंगलवार शाम को पुलिसकर्मियों के सामने एक अजीब मामला आया। एक युवती शाम को पहुंची और कहा कि उसकी पत्नी को परिवारीजनों ने बंधक बना लिया है, उसे मुक्त कराएं। यह बात सुनकर पुलिस को एक बार भरोसा नहीं हुआ। फिर युवती चीखने लगी। उसे किसी तरह शांत कराया गया। पुलिस ने उसकी पूरी बात सुनी और युवती के बताए पते पर गई। वहां से दूसरी युवती को मुक्त कराया। फिर थाने में काफी देर तक युवती के परिवारीजनों को समझाया और समझौता कराकर वापस भेज दिया।
विज्ञापन

प्रभारी निरीक्षक ठाकुरगंज सुनील कुमार दुबे के मुताबिक, इलाके में रहने वाली दो युवतियों ने 17 नवंबर 2020 को बुद्धेश्वर मंदिर में शादी की थी। दोनों के ही परिवारीजन इस रिश्ते से खुश नहीं थे। इसी बीच एक युवती के घरवालों ने दोनों को घर में बंद कर दिया। एक युवती वहां से भाग निकली। दूसरी युवती घर में ही कैद रह गई। थाने पहुंची युवती ने बताया कि हमें कैद करके पीटा गया।

प्रभारी निरीक्षक ठाकुरगंज सुनील दुबे के मुताबिक, दोनों बालिग हैं। दोनों शादी कर चुकी हैं, साथ रहना चाहती हैं। लेकिन परिवारीजन इसका विरोध कर रहे थे। मंगलवार शाम एक युवती थाने आई थी। शिकायती पत्र दिया। उसी के आधार पर दूसरी युवती को भी घर से छुड़वाया गया है। परिवारों ने इसका विरोध किया पर युवतियां अलग रहने को तैयार नहीं थीं। आखिर में पुलिस ने दोनों युवतियों के परिवारीजनों के बीच समझौता करवा दिया।