लखनऊ आप अगर युवा हैं और समाज के लिए कुछ करने की इच्छा रखते हैं तो राजधानी लखनऊ का दमकल विभाग आपके जोश और जज्बे को एक अवसर देकर सलाम करता है। जी हां, दमकल विभाग युवाओं को फायर फाइटर बनाएगा। इसके लिए उन्हें न केवल ट्रेनिंग देगा, बल्कि विभाग का सर्टिफिकेट भी देगा। तो फिर देर किस बात की उठिए और अपने नजदीकी फायर स्टेशन पर जाकर ट्रेनिंग के लिए आवेदन कर दें। इसके बाद दमकल विभाग आपको फायर स्टेशन पर एक हफ्ते की ट्रेनिंग देकर फायर फाइटिंग के लिए दक्ष बनाएगा। यह ट्रेनिंग निश्शुल्क होगी। अच्छा प्रदर्शन करने वाले युवाओं को विभाग पुरस्कृत भी करेगा। 

निजी कंपनी, स्कूल कर्मचारी, छात्र-छात्राएं और आमजन कर सकेंगे आवेदन 

युवाओं को चीफ फायर अफसर हजरतगंज, इंदिरानगर, आलमबाग, सरोजनीनगर, बीकेटी, चौक, गोमतीनगर और पीजीआइ फायर स्टेशन पर ट्रेनिंग के लिए एक प्रार्थनापत्र देकर आवेदन करना होगा। 25-30 लोगों की संख्या होने पर विभाग आपके नजदीकी फायर स्टेशन पर ट्रेनिंग देगा। जिसमें आग से कैसे बचाव करें, केमिकल, प्लास्टिक, गैस लीकेज समेत अन्य प्रकार की आग पर कैसे काबू पाया जाएगा। आग लगने पर सबसे पहले क्या करें। आग से अगर कोई व्यक्ति जल रहा है तो उसके लिए क्या करें। समेत अन्य बिंदुओं पर ट्रेनिंग देकर दक्ष बनाएगा। ट्रेनिंग पूरे होने पर आपको अग्नि सुरक्षा, राहत एवं बचाव कार्य का डैमो देना होगा। सफल परीक्षण होने के बाद आपको विभाग द्वारा एक सर्टिफिकेट दिया जाएगा। 

फायर स्टेशन पर दर्ज होगा आपका मोबाइल नंबर 

दमकल विभाग सभी वॉलंटियर्स के मोबाइल नंबर फायर स्टेशन पर रखेगा। पूरे शहर में आग की घटना की जानकारी होते ही वॉलंटियर्स को तत्काल इसकी सूचना दमकल विभाग को देनी होगी। इसके साथ ही अगर घटनास्थल वॉलंटियर्स के नजदीक हुआ तो उसे भी मौके पर पहुंचकर प्राथमिक फायर फाइटिंग अथवा राहत एवं बचाव कार्य करना होगा। इसके बाद दमकल कर्मियों के आने पर भी आप सहयोग करते रहेंगे। 

इसके पीछे यह है उद्देश्‍य 

चीफ फायर अफसर विजय कुमार सिह के मुताबिक, लोगों को अग्नि सुरक्षा और जीवन रक्षा का प्रशिक्षण देने का सबसे बड़ा उद्देश्‍य यह है कि लोग अग्नि सुरक्षा के बारे में खुद जागरूक हों। अभी भी लोग अग्नि सुरक्षा के प्रति जागरूक नहीं हैं। जिससे कारण हादसे अधिक हो रहे हैं। जब अधिक से अधिक युवाओं को आग से सुरक्षा की जानकारी होगी और वह फायर फाइटिंग में सझम होंगे तो समय रहते अग्निकांड की घटनाओं पर काबू पाया जा सकेगा और घटनाएं भी कम होंगी। 

You missed