वाराणसी में पुलिस मुठभेड़ में मारे गए एक लाख के इनामी बदमाश रोशन गुप्ता उर्फ किट्टू उर्फ बाबू को इन दिनों शहर के 11 व्यापारियों और डॉक्टरों से 49 लाख व एक इनोवा की वसूली करनी थी। यह खुलासा मुठभेड़ में मारे जाने के बाद उसकी डायरी के पन्ने से हुआ है। पुलिस अब इन सभी व्यापारियों और चिकित्सकों की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करेगी।

किट्टू के पास से मुठभेड़ के बाद एक बैग बरामद हुआ। बैग से बरामद नकदी और डायरी के एक पन्ने पर छह सराफा कारोबारियों, एक साड़ी व्यापारी, एक चिकित्सक, दो व्यापारी नेता और एक वाहन शोरूम के मालिक के नाम लिखे थे। किट्टू ने सभी के नाम के सामने रंगदारी की रकम भी लिख रखी थी।0पुलिस बरामद पन्ने और अन्य कागजात की जांच कर रही है। एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि जिन लोगों के नाम किट्टू के पास से बरामद डायरी के पेज से मिले हैं उनमें से किसी ने पुलिस से शिकायत नहीं की थी।

सभी से बातचीत कर उनकी सुरक्षा की पर्याप्त व्यवस्था की जाएगी। इसके साथ ही पुलिस की तीन टीमें मुठभेड़ स्थल से भाग निकले एक लाख के इनामी बदमाश नरोत्तमपुर निवासी मनीष सिंह उर्फ सोनू की तलाश में लगाई गई हैं।