भाजपा से क्षेत्रीय अध्यक्ष का दूसरा कार्यकाल पाने वाले डॉ. धर्मेंद्र सिंह ने गोरखपुर क्षेत्र की बहुप्रतीक्षित क्षेत्रीय कमेटी सोमवार देरशाम घोषित कर दी। यही कमेटी 2022 का विधानसभा चुनाव लड़ाएगी। गोरखपुर क्षेत्र में ही विधानसभा की 62 सीटें हैं। सभी पदाधिकारी व सदस्यों का कार्यकाल तीन वर्षों का रहेगा।

क्षेत्रीय कमेटी की घोषणा में भाजपा ने जातीय, क्षेत्रीय और सामाजिक समीकरणों का खास ख्याल रखा है। अध्यक्ष को छोड़ दिया जाए तो 31 सदस्यीय नई कमेटी में अति पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) से 10 पदाधिकारी व सदस्य बनाए गए हैं। पिछड़ा वर्ग मोर्चा के महामंत्री शिवनाथ चौधरी को मुख्य इकाई का क्षेत्रीय मंत्री बना दिया गया है। ‘भगवान परशुराम’ के वंशज यानी ब्राह्मणों पर जबरदस्त भरोसा जताया गया है। नई टीम में छह ब्राह्मण पदाधिकारी, सदस्य बनाए गए हैं। 
क्षेत्रीय मंत्री रहे प्रदीप शुक्ला को प्रमोशन देकर क्षेत्रीय महामंत्री बनाया गया है। गोरखपुर के जिलाध्यक्ष जनार्दन तिवारी को क्षेत्रीय मंत्री की जिम्मेदारी मिली है। महिला मोर्चा की क्षेत्रीय अध्यक्ष रहीं सुनीता श्रीवास्तव को क्षेत्रीय उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गई है। गोरखपुर महानगर के प्रभारी रहे और मऊ के पूर्व जिलाध्यक्ष सुनील गुप्ता को भी क्षेत्रीय मंत्री बनाया गया है। अनुसूचित जाति से चार, भूमिहार एक, क्षत्रिय तीन, कायस्थ तीन और वैश्य समाज से तीन पदाधिकारी या फिर सदस्य बनाए गए हैं।