कभी जहां महर्षियों की ऋचाएं गूंजती थीं आज वहां पर खूनी खेल हो रहा है। लाखों की आस्था से जुड़े तिर्रेमनोरमा स्थित मंदिर की 30 बीघे भूमि पर पहले से ही दबंगों का कब्जा है। शेष 120 बीघा कृषि योग्य भूमि कब्जाने के लिए खूनी खेल बीते तीन साल से हो रहा है। भूमि को कब्जाने के लिए कानूनी दांवपेंच में सफल न होने पर अब लाठी और गोली का सहारा लिया जा रहा है। स्थिति यह है कि मंदिर के महंत सीताराम दास की शिकायत के बाद भी स्थानीय पुलिस ने दबंगों की करतूत से आंखें फेर रखी थी।

जिसका अंजाम यह हुआ कि पुजारी अतुल बाबा उर्फ सम्राट दास को मंदिर में घुसकर गोली मार दी गई। घटना से यह संदेश दिया गया है कि भूमि पर खेती न करने दिया गया तो अंजाम बुरा होगा। अब पुलिस जिनको सरगर्मी से खोज रही है उनको पहले सिर आंखों बैठाए हुए थी। महर्षि उद्दालक के आश्रम और पवित्र मनवर नदी का उद्गम स्थल होने के कारण श्रीराम जानकी मंदिर का पौराणिक महत्व है। यहां पर हर साल कार्तिक पूर्णिमा पर मेला लगता है जिसमें कई जिलों से लोग आते हैं।पुजारी सम्राट दास2 of 5पुजारी सम्राट दास -मंदिर से जुड़े लोग बताते हैं कि गांव के प्रधान रहते समय ही अमर सिंह ने भूमि पर कब्जा करने के इरादे जता दिए थे। महंत सीताराम दास कहते हैं कि इन लोगों ने मंदिर की भूमि पर कब्जा करके दुकान, घर व तालाब बना लिए हैं। इसमें प्रमुख भूमिका पूर्व प्रधान अमर सिंह की ही है। वह आए दिन मंदिर के काम में दखल देते हैं। हालांकि, महंत ने प्रशासन के सहयोग से 120 बीघे भूमि खाली करा ली थी। अब उसी भूमि पर फिर से कब्जा करने के लिए तीन साल से मंदिर के लोगों की घेराबंदी की जा रही है। कई हथकंडे अपनाने के बाद भी जब उन्हें सफलता नहीं मिली तो दो साल पहले महंत सीताराम दास पर हमला हुुआ था। जिसका मुकदमा दर्ज हुआ और गैंगेस्टर के तहत पूर्व प्रधान अमर सिंह व उनके साथियों पर कार्रवाई हुई। शनिवार की देर रात करीब दो बजे गोली कांड के समय सुरक्षा में होमगार्ड तैनात थे।

घटना के एक घंटे बाद मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक
तिर्रेमनोरमा के श्रीराम जानकी मंदिर में पुजारी को गोली मारे जाने के घटना की जानकारी होने पर पुलिस अधीक्षक शैलेष कुमार पांडेय एक घंटे बाद पहुंचे। जिसके बाद गांव की घेराबंदी की गई और पूरे इलाके में सर्च अभियान चलाया गया। एसपी ने कहा कि घटना में कड़ी कार्रवाई होगी। आरोपियों को कड़ी सजा दिलाई जाएगी। मंदिर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है ।महंत सीताराम दास3 of 5महंत सीताराम दास – महंत सीताराम दास ने पहले ही जताई थी हमले की आशंका
महंत सीताराम दास ने पहले ही थानाध्यक्ष संदीप सिंह को फोन करके जानकारी दी थी कि कुछ लोगों ने मंदिर के पास बम फोड़ा है। महंत व एसओ की बातचीत का ऑडियो वायरल हुआ है जिसमें वह थानाध्यक्ष को बता रहे हैं कि कुछ लोगों ने मंदिर के पास बम फोड़ा है हालांकि एसओ इससे इंकार करते हैं।

By S.P. Singh

Senior Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *