उत्तर प्रदेश में फार्मा कंपनियों को निवेश करने पर  एक दर्जन से ज्यादा मामलों में छूट दी जाएगी। इसमें एसजीएसटी रिफंड से लेकर एयर कार्गो हैंडलिंग सब्सिडी व पेटेंट रजिस्ट्रेशन सब्सिडी तक शामिल है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के इस आकर्षक पैकेज प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। अब यह केंद्र सरकार को भेजा जाएगा।

अन्य राज्य के मुकाबले अगर केंद्र को यह प्रस्ताव बेहतर लगा तो यूपी को बल्क  ड्रग पार्क व मेडिकल डिवाइस पार्क परियोजना मिल जाएगी। ऐसा होने पर केंद्र सरकार दोनों पार्कों के लिए यूपी को एक एक हजार करोड़ रुपये की सहायता दी जाएगी। यूपी में ललितपुर में दो हजार एकड़ जमीन पर बल्क ड्रग पार्क व गौतमबुद्धनगर में मेडिकल डिवाइस पार्क बनाने की पहल शुरू हुई है। बस इंतजार केंद्र सरकार की हरी झंडी का है।

 वैसे यूपी सरकार दो साल पुरानी अपनी  फार्मा नीति में बदलाव कर नई नीति लांच करने वाली है। इन पार्कों से 40 हजार करोड़ का निवेश आ सकता है और करीब डेढ़ लाख लोगों को रोजगार मिल सकता है। माना जा रहा है कि यूपी में बेहतरीन मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर, वैज्ञानिक शोध संस्थाएं, फार्मेंसी संस्थाएं, कच्चा माल व अन्य सुविधाओं के चलते यूपी को इन पार्कों की अनुमति मिल जाएगी। इससे पहले केंद्र ने दो डिफेंस कारीडोर में एक का तोहफा यूपी को दिया था।

इन्टिव पैकेज में यह सुविधाएं
ब्याज में छूट, वास्तविक राजस्व की प्राप्ति के मुकाबले एसजीएसटी रिफंड, स्टांप ड्यूटी में छूट, रजिस्ट्रेशन चार्जेज, इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी, ईपीएफ की प्रतिपूर्ति, फ्रेट चार्जेज सब्सिडी, एयर कार्गो हैंडलिंग सब्सिडी, पेटेंट रजिस्ट्रेशन सब्सिडी, क्वालिटी सर्टिफिकेशन सब्सिडी, स्किल डवलपमेंट इन्सेंटिव व डीम्ड ओपन एक्सेज

कई विभाग इस तरह सहयोग देंगे
-ऊर्जा विभाग दोनों पार्कों के लिए डीम्ड लाइसेंस का दर्जा देगा। साथ ही ललितपुर पार्क के लिए 61 करोड़ की लागत से ट्रांसमिशन लाइन बिछाएगा।
-नागरिक उड्डयन विभाग ललितपुर में हवाई पट्टी के विकास का  काम शुरू करेगा।
-सिंचाई विभाग ललितपुर पार्क के लिए पहले तीन साल तक 5 एमएलडी पानी और उसके बाद चार सालों में 25 एमएलडी पानी उपलब्ध करवाएगा।

By S.P. Singh

Senior Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *