गोरखपुर,। जिले के टॉप 10 बदमाशों की सूची में शामिल माफिया सुधीर सिंह की प्रापर्टी कुर्क होगी। डीएम ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए है। वर्तमान में सुधीर सिंह पिपरौली ब्‍लाक का प्रमुख है। शहर के शाहपुर, देहात क्षेत्र के सहजनवां व गीडा क्षेत्र में पत्‍नी और उसके नाम से करीब 10 करोड़ की संपत्ति है। एचडीएफसी बैंक के अधिकारियों को पत्र लिख डीएम ने सुधीर की पत्‍नी के खाते से लेनदेन पर रोक लगाने को कहा है।  

माफिया सुधीर के पास आठ मालवाहक कंटेनर, दो चार पहिया गाड़ी, शाहपुर के एल्‍युमिनियम फैक्‍टी व गीडा के कालेसर में मकान, तीन बीघा जमीन है। सुधीर की पत्‍नी अंजू के नाम से एचडीएफसी बैंक में खाता है। माफिया के संपत्ति की सूची तैयार होने के बाद जिलाधिकारी के. विजयेंद्र पांडियन ने आरटीओ, रजिस्‍ट्रार को बिक्रय पर रोक लगाने के आदेश दिए है। अंजू के खाते से लेनदेन पर रोक लगाने के लिए एचडीएफसी बैंक अधिकारियों को भी पत्र भेजा है। शाहपुर क्षेत्र में स्थित माफिया के मकान का रिसीवर नायब तहसीलदार सदर और कालेसर स्थित मकान, वाहन व जमीन का रिसीवर तहसीलदार सहजनवां को नियुक्‍त किया गया है। डीएम ने सहजनवां, गीडा व शाहपुर थानेदार को माफिया के सभी वाहन को अपने कब्‍जे में लेकर मकान सील करने का आदेश दिया है। 

सुधीर पर दर्ज है 33 केस 

सुधीर सिंह पर गोरखपुर के अलावा लखनऊ जिले में कुल 33 केस दर्ज है। उसके खिलाफ कई बार गुंडा व गैंगेस्‍टर की कार्रवाई हो चुकी है। जिला स्‍तर पर चिन्हित किए गए टॉप 10 बदमाशों की सूची में नाम होने पर पुलिस ने उसके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए डीएम को रिपोर्ट भेजी थी। 

यह है जिले के टॉप 10 बदमाश

राघवेंद्र यादव (हिस्ट्रीशीट नंबर 161ए): गैंगेस्टर, हत्या समेत पांच मुकदमे दर्ज है। एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या में वांछित है। इस पर एक लाख रुपये का इनाम है।

शैलेंद्र प्रताप सिंह (हिस्ट्रीशीट नंबर 37 ए): हत्या, गैंगेस्टर, गुंडा सहित 9 मुकदमे दर्ज है। इस पर 25 हजार रुपये का इनाम है।

राकेश यादव (हिस्ट्रीशीटर नंबर 33ए): हत्या, हत्या की कोशिश, लूट, धमकी, एनएसए सहित 27 मुकदमे दर्ज है। इस पर 15 हजार का इनाम है।

राधे उर्फ राधेश्याम यादव (हिस्ट्रीशीट नंबर 115 ए): लूट, गैंगेस्टर, हत्या, गुंडा, एनडीपीएस के कुल 35 मुकदमे दर्ज है।

सत्यव्रत राय (हिस्ट्रीशीट नंबर 53ए): हत्या, गैंगेस्टर, गुंडा सहित 16 मुकदमे दर्ज है।

सुभाष शर्मा (हिस्ट्रीशीट नंबर 100 ए):  हत्या, लूट, डकैती, आर्म्स एक्ट सहित 22 मुकदमे दर्ज है।

अजीत शाही (हिस्ट्रीशीट नंबर 54ए):  हत्या, लूट, आपराधिक साजिश, गैंगेस्टर, गुंडा एक्ट सहित 33 मुकदमे दर्ज है।

प्रदीप सिंह (हिस्ट्रीशीट नंबर 9ए) : हत्या, लूट, डकैती, धमकी, जमीन कब्जा की कोशिश सहित 53 मुकदमे दर्ज है।

सुधीर सिंह (हिस्ट्रीशीट नंबर 1ए):  लूट, हत्या, डकैती, गुंडा, आर्म्स एक्ट सहित 33 मुकदमे दर्ज है।

विनोद कुमार उपाध्याय (हिस्ट्रीशीट नंबर एक बी): हत्या, हत्या की कोशिश, लूट, जमीन कब्जा कराने सहित 25 मुकदमे दर्ज है।

By S.P. Singh

Senior Journalist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *