रजय बाजपेयी के घर से देर रात निकाला गया सामान

रजय बाजपेयी के घर से देर रात निकाला गया सामान

कानपुर : गैंगस्टर एक्ट के तहत संपत्ति जब्तीकरण की कार्रवाई शुरू होने के साथ ही शनिवार देर रात रजय बाजपेयी के घर से सामान निकाला गया। हालांकि पुलिस का दावा है कि सामान रजय बाजपेयी या उनके भाइयों का नहीं है बल्कि दो किराएदारों का है।

एसएसपी डॉ. प्रीतिदर सिंह की रिपोर्ट पर शुक्रवार को डीएम आलोक तिवारी ने जय बाजपेयी व उनके तीनों भाइयों रजयकांत, अजय कांत और शोभित बाजपेयी की पांच भवन और दो भूखंडों सहित 12 वाहनों को जब्त करने का आदेश दिया था। इसके तहत पुलिस ने आर्यनगर स्थित भवन संख्या 8/202ए के ऊपरी तल टॉप फ्लोर पर स्थित फ्लैट नं0 02, ब्रह्मनगर स्थित भवन संख्या 111/478(12), भवन संख्या 111/481, भवन संख्या 107/300 और जवाहर नगर स्थित भवन संख्या 107/298 जवाहर नगर के साथ ही ग्राम चौधरीपुर तहसील बिल्हौर और 7- 261 ई ब्लॉक पनकी में स्थित भूखंडों को जब्त करने की कार्रवाई शनिवार को शुरू की थी। ब्रह्मनगर स्थित मकान नंबर 111/481 जय बाजपेयी के नाम है, लेकिन इसमें रजय बाजपेयी का परिवार रहता है।

यह वही मकान है, जिसमें अवैध निर्माण की शिकायत के बाद केडीए ने सील लगा दी थी, लेकिन अपनी पहुंच का इस्तेमाल करते हुए जय बाजपेयी ने सील तोड़कर चार मंजिला इमारत खड़ी कर दी थी, जिसमें एफआइआर भी दर्ज हुई थी। इसी मकान में ही पिछले दिनों तीन पुलिसकर्मी रहते मिले थे, जिन्हें निलंबित कर दिया गया था। मकान के ग्राउंड फ्लोर पर जय के दूसरे भाई शोभित बाजपेयी की कार एसेसरीज की दुकान है। शनिवार रात करीब दस बजे के बाद डीएम घर के नीचे लगी और चौथे मंजिल से घरेलू सामान जैसे, फ्रिज, टीवी, बेड, साफा आदि सामान नीचे आने लगा। सूचना पर नजीराबाद पुलिस पुलिस भी मौके पर पहुंची। इंस्पेक्टर नजीराबाद ज्ञान सिंह के मुताबिक चौथे मंजिल में दो किराएदार रहते थे। पुलिस ने दोपहर को इन्हें नोटिस दिया था, जिसके बाद उन्होंने घर खाली कर दिया।

————————–

पुलिस ने झूठ क्यों बोला

एक ओर जहां नजीराबाद पुलिस किराएदारों द्वारा मकान खाली करने की बात कह रही है, वहीं सूत्रों के मुताबिक चौथी मंजिल पर रजय बाजपेयी का परिवार ही रहता था। दैनिक जागरण के पास जो वीडियो है, उसमें चौथी मंजिल से ही सामान उतारते हुए दिखाई पड़ रहा है। ऐसे में सवाल है कि पुलिस झूठ क्यों बोल रही है। रजय के रिश्तेदार प्रेम पांडेय ने बताया कि घर खाली करने का नोटिस आया था, इसलिए सामान ले जाया जा रहा है। रजय की पत्नी व दोनों बच्चे बर्रा में कहीं शिफ्ट होंगे।

————————–

एसएसपी ने कहा जांच कराएंगे

गैंगस्टर एक्ट की धारा 14.1 के तहत चल व अचल दोनों संपत्तियों के जब्तीकरण का प्रावधान है। ऐसे में सवाल यह है कि क्या आरोपित के घरों से सामान निकाला जा सकता है। एसएसपी डॉ. प्रीतिदर सिंह ने बताया कि इस मामले में कानूनी राय ली जाएगी। अगर सामान भी जब्तीकरण में शामिल होगा तो पुलिस मकान से बाहर ले जाए गए सामान को दोबारा से जब्त करेगी। उन्होंने इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *